दोस्ती की नई परिभाषा

wp

कुछ दिन पहले की बात है…एक ऑनलाइन डेटिंग एप्प पर उससे बात शुरू हुई। उसने अपना नाम बदला हुआ था। जैसे-जैसे बात आगे बढ़ी एक दूसरे को जानने और समझने का मौका मिला, उसने बताया कि वो नेपाल का रहने वाला है पर भारत में रह कर अपनी पढ़ाई कर रहा है।

न जाने क्यों एक अजीब सी कशिश थी उसकी बातों में… दिल को छू लेने वाली। मुझे ये समझने में देर नहीं लगी कि ये ही तो है वो जिसके सपने मैं देखा करता था। बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिनकी बातों में एक जादू सा होता है।

जब वीडियो कॉल के दौरान उसे देखा, तो बस देखता ही रह गया। दिल तो कर रहा था उसे सीने से लगा लूँ, पर शायद ऐसी तकनीक विज्ञान ने अभी तक खोजी नहीं है। बस मन ही मन तय कर लिया ये ही है मेरे सपनों का राजकुमार। मैं अभी सपने देखने ही लगा था कि उसने अपने बारे में कुछ ऐसी बात बताई जिसे जानने के बाद एक धक्का सा लगा। कुछ पल के लिए मेरे सपनों की दुनिया थम सी गयी थी।उसने बताया कि उसका सपना है कि वो एक लड़की के साथ घर बसाएगा क्योंकि वो बाय-सेक्शुयल है। और उसके जीवन में एक पुरुष साथी भी होगा जो उसका खास दोस्त होगा जिसके साथ वो अपने सुख दुख बाँट सकेगा। पहले तो समझ में नही आया मुझे कि खुद को दोष दूँ या उसे।फिर जब ठंडे दिमाग से सोचा तो समझ में आया कि जैसे मैं अपने सपनों को लेकर जी रहा हूँ, वैसे उसके भी तो अपने सपने हैं। मैं इतना स्वार्थी कैसे हो सकता हूँ?

खैर अब हम अच्छे दोस्त हैं और मुझे नहीं लगता कि दुनिया में दोस्ती से बड़ा कोई रिश्ता हो सकता है क्योंकि इसके कोई दायरे या सीमाएँ नहीं होती। आप खुद को कहीं ज़्यादा स्वतंत्र महसूस करते हो एक अच्छे दोस्त के साथ।