Section 377

थर्ड जेंडर का आधा-अधूरा हक़। छाया: अमोल पालकर।

‘थर्ड जेंडर’ का आधा-अधूरा हक़

थर्ड जेंडर का आधा-अधूरा हक़। छाया: अमोल पालकर। पिछली दफ़ा साल २०१३ में समलैंगिकता से जुड़े मुद्दे के बाद जेंडर/लिंग/यौनिकता से जुड़ा एक दूसरा मामला देश के सर्वोच्... Read More...
पुढील स्टेशन? समानाधिकार सेन्ट्रल! छाया: सचिन जैन।

अगला स्टेशन? क्वीयर आज़ादी!

पुढील स्टेशन? समानाधिकार सेन्ट्रल! छाया: सचिन जैन। ११.१२.१३ के सुप्रीम कोर्ट के भारतीय दंड संहिता की धारा ३७७ को बरक़रार रखने के अपने फेसले ने आपसी सहमती से हु... Read More...
इम्फाल प्राइड २०१४

इम्फाल में प्राइड का कमाल

इम्फाल प्राइड २०१४। यूथ हॉस्टल, खुमान लम्पक से परेड की शुरुआत। तस्वीर: कौशिक गुप्ता। इस प्राईड वॉक या गौरव यात्रा का आयोजन १५ मार्च २०१४ को मणिपुर राज्य की रा... Read More...
चित्रा पालेकर: एक मुलाक़ात

एक मुलाक़ात: चित्रा पालेकर

चित्रा पालेकर: एक मुलाक़ात। छाया: सचिन जैन। चित्रा पालेकर की बेटी शाल्मली ने उन्हें १९९० के दशक में बताया कि वह समलैंगिक है। तबसे चित्रा ने एक लंबा सफ़र तय किया... Read More...
'समानुभूति की तुला'

उम्मीद पर दुनिया क़ायम है

'समानुभूति की तुला'; तस्वीर: सचिन जैन। "उम्मीद पर दुनिया क़ायम है" - अम्मा ने मेरे कान में कहा और मुझे कुछ घसीटती, कुछ खींचती, माइक के सामने खड़ा कर, अपनी जगह प... Read More...
नाटक: 'आख़िर क्यों' में पंचायत का प्रसंग।

‘आख़िर क्यों’ – एक साहसी नाट्याविष्कार

१८ जनवरी २०१४ को आई.आई.टी. खड़गपुर के नेताजी सभागृह में अंतर-हॉल हिंदी नाट्यस्पर्धा २०१३-२०१४ के अंतर्गत 'आख़िर क्यों', नामक नाट्याविष्कार प्रस्तुत किया गया। इंजी... Read More...
Hello 377

‘हैलो ३७७’ – एक कविता

हैलो ३७७; छाया: बृजेश सुकुमारन हैलो ३७७. आज मुझे तुमसे कुछ बातें कहनी हैं. मुझे ये जो ज़रूरत महसूस होती है अचानक बेबाक कहने की- मुझे उससे प्यार है, मुझे प्य... Read More...
Zehen Labia Leafletting

एक ज़हनी सवाल

'ज़हन' कि श्रेया सेन, दादर स्टेशन के क़रीब; तस्वीर: मेघना मराठे 'ज़हन' नारीवादी संघटना और 'लेबिया' क्वीयर नारीवादी संघटना ने भारतीय दंड संहिता की धारा ३७७ से जुड़... Read More...
Sri Sri Ravishankar and Baba Ramdev

श्री श्री रवि शंकर बनाम बाबा रामदेव

श्री श्री रविशंकर और बाबा रामदेव २ गुरुओं की समलैंगिकता पर परस्पर-विरोधी राय। कई सालों से अनेक हिन्दू गुरुओं और तत्त्वज्ञों ने, अलग-अलग सन्दर्भों में, समलैं... Read More...
Bhopal Protest Against 377

भोपाल विरुद्ध ३७७

"वो हमारे गीत क्यों रोकना चाहते हैं?खामोशी तोड़ो, वक़्त आ गया!" रविवार १५ दिसंबर २०१३ को जागतिक कोप दिवस ('ग्लोबल डे ऑफ़ रेज') मनाया गया। भारत और दुनिया के दी... Read More...