Gaylaxy Hindi

'नया शहर' - एक कहानी। तस्वीर: सचिन जैन।

‘नया शहर’ – एक कहानी

'नया शहर' - एक कहानी। तस्वीर: सचिन जैन। नया शहर था, उसकी नींद आज फिर टूट गयी। वो सकपका कर जगा; कुछ वक़्त तक वो समझने की कोशिश करता रहा ,कहाँ है वो? बचपन में ... Read More...
संयुक्त राष्ट्र और समान अधिकार

संयुक्त राष्ट्र और समान अधिकार

संयुक्त राष्ट्र और समान अधिकार २४ मार्च २०१५ को भारत ने संयुक्त राष्ट्र (सं.रा.) में एक ऐसे प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया जो इस वैश्विक संस्था में कार्यरत स... Read More...
'यंगिस्तान ज़िंदाबाद': पुणे प्राइड परेड २०१४। तस्वीर: समपथिक ट्रस्ट।

यंगिस्तान ज़िंदाबाद

'यंगिस्तान ज़िंदाबाद': पुणे प्राइड परेड २०१४। तस्वीर: समपथिक ट्रस्ट। कोई भी काम पहली बार ही नहीं, निरंतर यशस्वी रूप से करते रहना एक चुनौती है। नवंबर ९, २०१४ की... Read More...
'अजीब वो' - एक कथा। तस्वीर: सचिन जैन।

‘अजीब वह’ – एक कहानी

'अजीब वो' - एक कथा। तस्वीर: सचिन जैन। वह अजीब था। हमेशा अपने आप को समेटता रहता था, फिर भी बिखरा-सा था। हज़ारो हज़ार बातें थी, पर वह ख़ामोश था; अधूरा था वह पर उसे... Read More...
'७ व्याख्याएं'; तस्वीर: अशोक कोरी

७ व्याख्याएँ

'७ व्याख्याएं'; तस्वीर: अशोक कोरी यौनिकता अल्पसंख्यकों के बारे में इस्तेमाल हो रहे अंग्रेजी शब्दों की हिंदी परिभाषाएँ: होमोसेक्शुअल : 'होमोसेक्शुअल' का ... Read More...
"यह जो एक बात है" - एक कविता।

‘यह जो एक बात है’ – एक कविता

- अभिजीत। "यह जो एक बात है" - एक कविता। एक बात है होठों तक जो आई नहीं, बस आँखों से है झाँकती, तुमसे कभी, मुझसे कभी, कुछ लव्ज़ हैं वह माँगती। जिनको ... Read More...
अरविंद केजरीवाल, आम आदमी पार्टी

तूफ़ान और इन्द्रधनुष

अरविंद केजरीवाल, आम आदमी पार्टी आज दिल्ली विधान सभा के चुनाव में हुई आम आदमी पार्टी की जीत भारत के लैंगिकता अल्पसंख्यक समाज के लिए विशेष रूप से महत्त्वपूर्ण ह... Read More...

‘हँसी’ – एक कहानी

- कपिल कुमार। वो उनकी बातो से बच कर निकल जाना चाहता था। वो आज हसना नहीं चाहता था। "चल तू ऐसे किसी से पूछ ही नहीं सकता", प्रेरित बोल रहा था। ऑफिस की केन्टीन ... Read More...
इस अंक का विषय है 'स्वीकृति'। तस्वीर: बृजेश सुकुमारन।

संपादकीय १० (३१ अक्तूबर, २०१४)

इस अंक का विषय है 'स्वीकृति'। तस्वीर: बृजेश सुकुमारन। इस अंक का विषय है 'स्वीकृति'। 'एक अनुकरणीय आदर्श' में लेते हैं २ दिन पहले हुए विश्व-प्रसिद्द 'ऍपल' कंपन... Read More...
नदी ने कहा समंदर से...

‘समंदर और नदी’ – एक कविता

हरवंत कौर चार दशकों से शायरी लिख रहीं हैं। सरल भाषा में वह अपनी भावनाएँ बख़ूबी व्यक्त करती हैं। प्रस्तुत है 'एहसास' नामक संग्रह से उनकी एक कविता: समंदर ने कह... Read More...
'सूर्योदय के इंतज़ार में'

‘फ़रिश्ते कगार पर’ – एक तस्वीरी मज़मून

इस बार पेश करते हैं तस्वीरी मज़मून (फोटो-स्टोरी) छायाचित्रकार अभिजीत अलका अनिल का।  सात साल समाजकार्य के क्षेत्र में रहने के बाद, अभिजीत ने जनवरी २०१४ में फ्रीला... Read More...
तुम्हारा इंतज़ार करूँगा...। तस्वीर: बृजेश सुकुमारन।

“ज़ीरो लाइन – एक पाक-भारत प्रेम कथा” – श्रृंखलाबद्ध कहानी (भाग ५/५)

गेलेक्सी हिंदी के सितम्बर २०१४ के अंक में आपने पढ़ी थी हादी हुसैन की श्रृंखलाबद्ध कहानी “ज़ीरो लाइन – एक पाक-भारत प्रेम कथा” के पाँच कड़ियों की चौथी कड़ी। प्रस्तुत ... Read More...